न्यूज़ हिंदी

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री ने केन्द्रीय सामान्य रोग चिकित्सालय का किया भूमि पूजन

18 अक्टूबर 2018

मा. मंत्री, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, उ.प्र. श्री सिद्धार्थनाथ सिंह जी अपने प्रयागराज भ्रमण के दौरान परेड ग्राउण्ड, बाघम्बरी रोड़, प्रयागराज में कुम्भ मेला 2019 के लिए 100 शैय्या केन्द्रीय सामान्य रोग चिकित्सालय का भूमि पूजन किया। उन्होंने इस अवसर पर स्वच्छता मित्रों को शाल भेंट कर उन्हे सम्मानित भी किया। इस कार्यक्रम में मा. मंत्री के साथ अपर निदेशक स्वास्थ्य, मण्डलायुक्त डॉ. आशीष कुमार गोयल, मेलाधिकारी श्री विजय किरन आनन्द, डीआईजी कुम्भ श्री के.पी. सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी, स्वास्थ्य विभाग की सलाहकार श्रीमती सलोनी गोयल सहित मेला एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारीगण उपस्थित थे।  

मा. मंत्री जी ने भूमि पूजन के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि राम नवमी के शुभ अवसर पर स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सालय का भूमि पूजन किया गया है, यह बहुत ही हर्ष की बात है। उन्होंने कहा कि नगर को प्रयागराज किये जाने का अनुरोध उनके द्वारा मा. राज्यपाल उ.प्र. को किया गया था। नगर का नाम प्रयागराज किया जाना हर किसी भावना थी। उन्होंने कहा कि प्रयागराज में लोग आकर देखे कि यहां पर क्या परिवर्तन हो गये तथा क्या परिवर्तन हो रहे है। उन्होने कहा कि सरकार ने नगर का नाम बदलने से पहले यहां की व्यवस्थाओं को दुरूस्त किया है। यहां पर कुम्भ के दृष्टिगत अनेक निर्माण कार्य प्रगति पर है, जो प्रयागराज में आने वालों लोगों के लिए एक आकर्षक एवं सुखद अनुभव का केन्द्र बनेंगे।  

मा. मंत्री जी ने कहा कि कुम्भ आयोजन की तैयारियों में हर विभाग अपना योगदान दे रहा है। उन्होंने कहा कि कुम्भ मेला में स्वास्थ्य एवं सफाई-व्यवस्था का खास ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि मेला में कूडे को निस्तारण के व्यापक प्रबन्ध किये गये है, जिसमें मेला के दौरान तथा मेला के बाद भी मेला क्षेत्र में किसी प्रकार की गन्दगी नही दिखायी देगी। उन्होंने बताया कि आधुनिक उपकरणों के द्वारा कूड़े को जमीन पर गिराये बिना ही उसे मेला क्षेत्र से बाहर कर दिये जाने का प्रयोग माघ मेला मे किया गया था, जो सकुशल सम्पन्न हुआ है। इन्ही प्रयोगों को अब कुम्भ मेला में लागू किया जा रहा है, जिससे मेला क्षेत्र साफ-सुथरा बना रहें। उन्होने कहा कि साफ-सफाई के इस तरह के व्यापक प्रबन्ध होने से मेले में आने वालों लोग बीमार नही पड़ेगे। 

मा. मंत्री जी ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के द्वारा मेला मे आने वालों लोगो के स्वास्थ्य से सम्बन्धित समस्याओ के लिए मेला क्षेत्र में ही चिकित्सालय का निर्माम किया जा रहा है, जिसका आज भूमि पूजन किया गया है। उन्होंने बताया कि चिकित्सा व्यवस्था में 100 बेड का एक चिकित्सालय, 20 बेड का 11 सर्किल चिकित्सालय, 20 बेड का 2 संक्रात्मक रोग चिकित्सालय, 30 प्राथमिक उपचार केन्द्र, 15 हेल्थ पोस्ट, 250 चिकित्सा अधिकारियों की तैनाती, 150 एम्बुलेंस, 04 ए.एल.एस. एम्बुलेंस, 04 रिवर एम्बुलेंस, 01 एयर एम्बुलेंस के व्यापक प्रबन्ध किये गये है। जिससे मेला में किसी प्रकार की समस्या से आसानी से निपटा जा सके। उन्होंने बताया कि इसी तरह सफाई व्यवस्था में 1,22,500 शौचालयो का निर्माण, 20,000 डस्टबिन लाइनर सहित की व्यवस्था, 40 काम्पैक्टर्स की व्यवस्था, 11000 सफाई कर्मियो, फाइबर टंकी, टिन, कनात टाइप के शौचालयों का निर्माण, 24*7 सफाई की व्यवस्था, रिवर सेनिटेशन की व्यवस्था की जा रही है। इसके अलावा पूरे मेला क्षेत्र को मच्छर, मक्खी विहीन बनाया जायेगा। मा. मंत्री जी कहा कि मेला में सफाई व्यवस्था के रीढ़ सफाई कर्मियों के लिए भी व्यापक प्रबन्ध किये जा रहे है। उन्होंन बताया कि सफाई कर्मियों के रहने एवं खाने पीने की व्यापक व्यवस्था कुम्भ मेला में की जा रही है। जिससे सफाई कर्मियों को किसी प्रकार की असुविधा न हो।  

मा. मंत्री जी ने कहा कि कुम्भ मेला में इस प्रकार की साफ-सफाई एवं स्वास्थ्य व्यवस्था इस तरह रखी जाय, जिससे आने वालों लोगों को किसी प्रकार की समस्या न हो। उन्होने कहा कि कुम्भ में होने वाली व्यापक सफाई व्यवस्था को गिनीज बुक में नाम में दर्ज कराये जाने पर भी जोर दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि कुम्भ की सफाई व्यवस्था का डाक्यूमेंट तैयार किया जाय तथा एक बेंचमार्क तैयार करे। उन्होंने कहा कि कुम्भ में स्वास्थ्य एवं सफाई व्यवस्था को उसके चरमोत्कर्ष पर ले जाया जायेगा। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग की सलाहकार श्रीमती सलोनी गोयल के कार्यो की सराहना की। उन्होंने बताया कि उनके अथक प्रयासों से मेला क्षेत्र मे स्वास्थ्य सम्बन्धी कार्यो मे तेजी आ रही है।

मण्डलायुक्त ने इस अवसर पर कहा कि कुम्भ मेला में स्वच्छता एवं सफाई व्यवस्था को व्यापक रूप से प्राथमिकता दी गयी है। उन्होने बताया कि इसी क्रम मे सफाई कर्मियों के रहने, खाने-पीने का भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है, इसके लिए उन्होने मेलाधिकारी बधाई भी दी। उन्होने कहा कि कुम्भ मेला विश्व का सबसे बड़ा आयोजन होता है। इसमें हम सब मिलकर अपना योगदान दे। उन्होने कहा कि सफाई कर्मियों की समस्याओं को प्राथमकिता पर लिया जा रहा है। सफाई कर्मी अपनी समस्या मेला प्रशासन या स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी से कर सकते है, उनकी समस्या का यथोचित समाधान कर दिया जायेगा।

कार्यक्रम के दौरान ही मा. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री जी को स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों द्वारा निर्मित होने वाले चिकित्सालय का स्वरूप दिखाया जायेगा, जिसमें सारी बेड, चैम्बर्स तथा अन्य कक्षों को प्रदर्शित किया गया था। मा. मंत्री जी ने स्वच्छता मित्रों को शाल एवं माला पहनाकर सम्मानित भी किया। जिसमें फूलचन्द्र, शिवराम, मोहनलाल, सुकूरू, चुनबाद, गुलाब, संगम, गंगादीप, गंगाराम, चन्द्रप्रकाश पिन्टू, महेश, शिवशम्भू, महावीर, बच्चूलाल पुत्र दुर्गा, हीरालाल, मूल्लू, अमित पुत्र लल्लू कुल 17 स्वच्छता मित्रों को सम्मानित किया। इसके पूर्व मे मा. मंत्री जी ने कुम्भ मेला 2019 के लिए 100 शैय्या केन्द्रीय सामान्य रोग चिकित्सालय का भूमि पूजन पूरे विधान के साथ हवन इत्यादि कर किया।